Hindi Story प्रेरणादायक हिंदी कहानी हिंदी कहानियाँ हिंदी कहानी

घमंडी गुलाब – हिंदी कहानी | Ghamdi Gulab – Hindi Story

कहानी :- घमंडी गुलाब

घमंडी गुलाब :- 
                   एक समय की बात है वसंत ऋतु का मौसम आने पर एक बगीचे में एक गुलाब का फूल खिला | गुलाब के फूल की सुंदरता देख कर पास में खड़े एक पेड़ ने कहा|
पेड़ :- पेड़ ने कहा कि कितना सुंदर फूल है काश मेरे ऊपर भी ऐसे फूल उगते |
गुलाब :- गुलाब ने अपनी तारीफ सुनकर अपने आप पर घमंड महसूस किया | और गुलाब बोला इस बगीचे में मैं ही सबसे ज्यादा सुंदर हूं और बाकी सब मेरी सुंदरता देखते हैं |
सूरजमुखी :- यह बात सुनकर सूरजमुखी बोला की ऐसी कोई बात नहीं यहां पर सभी पेडो फूल सुंदर है  ऐसे तुम कैसे कह सकते हो यहां पर बबूल को देख लो इसको कौन सुंदर खाएगा | की तू पूरे कांटों से भरा हुआ है |
गुलाब :- कांटे तो तुम्हारे ऊपर भी है तुम बबूल की बुराई कैसे कर सकते हो |
सूरजमुखी :- तुम्हें क्या पता सुंदर क्या होती है मेरी और बबूल की कोई तुलना नहीं है काश मैं यहां से ही सकता | तो कभी मैं इस जैसे दिखने वाले पौधे के पास खड़ा नहीं होता | अपनी सुंदरता का घमंड इतना अच्छा नहीं है गुलाब | ऐसा ही गुलाब प्रतिदिन बबूल का मजाक उड़ाता था |
गुलाब:- मेरा तो बबूल देखने का मन भी नहीं करता कोई इसे हटा क्यों नहीं देता |
सूरजमुखी :- पर बबूल इसकी बात का कभी बुरा नहीं मानता था |

समय बिता वसंत रितु चली गई  और गर्मी का मौसम आ गया | बहुत दिनों तक बारिश नहीं हुई तो चारों और सूखा पड़ गया | गुलाबी पानी की कमी से मुझे लगा | एक दिन गुलाब ने देखा कि चिड़िया आई और बबूल पर बैठ गई |और चोंच से छिद्र किया और चोंच डाल दी |

गुलाब :- यह चिड़िया क्या कर रही है ?
सूरजमुखी :- यह बबूल से अपनी पास बुझा रही है|
गुलाब:- बबूल के अंदर पानी |
 
 
 

सूरजमुखी :- हां इस बबूल के जड़ों में पानी की इकट्ठा होता है इसीलिए बारिश ना होने के कारण भी वह जिंदा रहता है  |

गुलाब:- पर चिड़िया को पानी पीने से बबूल को दर्द नहीं होता |
 
 
 
 

सूरजमुखी :- पर उसको दूसरों की मदद करना अच्छा लगता है | तुम चाहो तो तुम भी थोड़ा पानी मांग सकते हो | बबूल कभी मना नहीं करेगा |

गुलाब :- गुलाब ने शर्माते हुए बबूल से पानी मांगा |
बबूल :-अब बबूल मदद करने को तैयार था | बबूल के कहने पर चिड़िया ने थोड़ा सा पानी गुलाब को दे दिया | और गुलाब के प्यास बुझ गई |
गुलाब :- बबूल उसकी मदद की तो गुलाब को अपनी बात पर पछतावा हुआ | और उसने बबुल से माफी मांगी |
इस कहानी से यह शिक्षा मिलती है कि सुंदरता पर घमंड नहीं करना चाहिए और अच्छी भावना रखनी चाहिए और शरीर सुंदरता से ज्यादा जरूरी है |

Leave a Reply

Your email address will not be published.