प्रेरणादायक हिंदी कहानी हिंदी कहानियाँ हिंदी कहानी

मां की प्यारी सिख हिंदी कहानी – maa ki pyari sikh hindi story

कहानी: मां की प्यारी सिख


अपनी मां के साथ एक बहुत अच्छे घर में रहता था। बहुत अच्छा लड़का था और हमेशा अपनी मां का कहना मानता था।
चेतन की मां हमेशा बहुत अच्छे पकवान बनाती थी।


चेतन को पकवान खाना बहुत पसंद था।
एक दिन चेतन की मां ने बहुत बढ़िया कुकीज बनाकर एक बड़े जार में रख दी और फिर बाजार चली गई ।


बाजार जाने से पहले चेतन की मैन उसको का गई थी।


की अपना गृह कार्य समाप्त करने के बाद वह कुकीज खा सकता है।


और चेतन जल्दी से जल्दी अपना गृह कार्य समाप्त किया।


और और फिर उसने सोचा मैन के बाजार आने से पहले मैं कुकीज खा लूं। और वह एक टेबल के ऊपर पैर रखकर चड्ढा और जार के अंदर हाथ डाला और सात आठ कुकीज हाथ में लेकर हाथ जार से बाहर लगा तो हाथ बाहर नहीं निकाला तभी उसकी मां आई और उसे देख कर हंसने लगी और चेतन की मां ने कहा अरे तुम एक या दो कुकीज को लेकर हाथ बाहर निकालो और यह सोचकर चेतन ने हाथ बाहर निकाला।


उसकी मां बोली तुम्हें क्या शिक्षा मिली


तभी चेतन बोला किसी भी चीज का लालच नहीं करना चाहिए..

Leave a Reply

Your email address will not be published.